newsmantra.in l Latest news on Politics, World, Bollywood, Sports, Delhi, Jammu & Kashmir, Trending news | News Mantra
Banking and Finance

FIDC की बैठक जयपुर में हुई सफल

FIDC meeting successfully convened in Jaipur

~ FIDC के प्रमुख निदेशकों और शीर्ष के NBFC ने “विकसित भारत 2047” के रोडमैप में NBFC की भूमिका और अवसरों पर चर्चा की ~

जयपुर, 14 मार्च, 2024: NBFC के निदेशक मंडल ने आज जयपुर में एक बैठक बुलाई, जिसमें भारत की वृद्धि को 7% से आगे बढ़ाने के लिए सहयोगी साझेदारी, फ़ंडिंग संरचना और गैर-बैंकिंग फ़ाइनैंशियल कंपनियों (NBFC) के बीच बेहतरीन कार्यों के लेन-देन की अहम ज़रूरत पर ज़ोर दिया गया। FIDC के अध्यक्ष और श्रीराम फ़ाइनैंस के कार्यकारी उपाध्यक्ष श्री उमेश रेवांकर ने विशेष रूप से सरकार की ओर से तय किए गए महत्वाकांक्षी विकास लक्ष्यों के मद्देनज़र NBFC को एकजुट होने और उसे सहयोग करने की अनिवार्यता के बारे में बताया।

श्री रेवांकर ने इस पर प्रकाश डाला कि ट्रांसपरेंट कम्यूनिकेशन (पारदर्शी संचार) को बढ़ावा देना और अर्थव्यवस्था पर NBFC के सकारात्मक प्रभाव के चारों ओर एक आकर्षक कहानी तैयार करना न सिर्फ़ इस क्षेत्र की विश्वसनीयता को बढ़ाएगा, बल्कि निवेशकों के विश्वास को मज़बूत बनाने में भी अहम भूमिका निभाएगा, जिससे निरंतर विकास और विकास के लिए आवश्यक धन जुटाना आसान हो जाएगा।

वित्तीय समावेशन में NBFC की अहम भूमिका को स्वीकार करते हुए – बैंकिंग क्षेत्र की वजह से हुए अंतराल को दूर करने के लिए – रेवांकर ने सदस्यों की सफलता की कहानियों और पहलों को साझा करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया जो समावेशी विकास के लिए क्षेत्र की प्रतिबद्धता दिखाते हैं। उन्होंने कहा, यह जनसंख्या के कम सेवा वाले वर्गों की सेवा में NBFC की ओर से निभाई गई अहम भूमिका के बारे में सार्वजनिक जागरूकता में योगदान करेगा।

बोर्ड की बैठक में अपने सदस्यों के हितों की पैरवी करने में FIDC की वकालत की भूमिका पर भी प्रकाश डाला गया। चर्चाओं में नियामकों, नीति वकालत की कोशिशों और NBFC पारिस्थितिकी तंत्र को मज़बूत करने के मकसद से सदस्य जुड़ाव कार्यक्रमों की विशिष्ट पहल शामिल थीं।

बड़ी संख्या में NBFC के साथ-साथ राजस्थान से स्थानीय रूप से MSME, उद्यमियों, छोटे व्यापारियों और ट्रांसपोर्टरों को उधार लेने की ओर से बात करते हुए, SK फ़ाइनैंस लिमिटेड के प्रबंध निदेशक श्री राजेंद्र सेतिया ने कहा, “राजस्थान में NBFC क्षेत्र राज्य की आर्थिक क्षमता से प्रेरित होकर अहम विकास के लिए तैयार है। वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने, MSME का समर्थन करने और ग्रामीण विकास को बढ़ावा देने पर ध्यान केंद्रित करने के साथ, NBFC कस्टमाइज़ वित्तीय समाधान देने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। प्रौद्योगिकी और डेटा ऐनालिटिक्स का लाभ उठाते हुए, राजस्थान की आबादी की ख़ास ज़रूरतों को पूरा करने के लिए, विशेष रूप से अहम MSME और वाहन वित्त क्षेत्र के भीतर, उद्यमशीलता और समग्र आर्थिक विकास में योगदान करने के लिए पर्याप्त अवसर हैं।”

चुनौतियों का सामना करने पर बोलते हुए, श्री सेतिया ने ऑपरेशन से जुड़े लचीलेपन बनाए रखते हुए अनुपालन पक्का करने के लिए नियामक निकायों के साथ सहयोग की ज़रूरत पर ज़ोर दिया। संवेदनशील वित्तीय डेटा की सुरक्षा के लिए साइबर सुरक्षा के उपाय मज़बूत होने चाहिए और कार्यबल क्षमताओं को बढ़ाने के लिए कौशल विकास पर ध्यान देना ज़रूरी है। उन्होंने आगे कहा कि स्थानीय समुदायों के साथ मज़बूत साझेदारी करना और सांस्कृतिक बारीकियों को समझना भी विश्वास हासिल करने और आउटरीच का विस्तार करने में अहम होगा।

उभरते हुए वित्तीय परिदृश्य ने स्थायी वित्तपोषण के अवसरों सहित नए वित्तपोषण क्षेत्रों पर चर्चा करने के लिए बढ़ावा दिया। सदस्यों ने उद्योग पर डिजिटल परिवर्तन और अभिनव वित्तीय उत्पादों के प्रभाव को देखते हुए, फ़िनटेक फ़र्मों के साथ सार्थक सहयोग के महत्व पर ज़ोर दिया। सदस्यों के बीच बढ़े हुए सहयोग की अनिवार्यता एक प्रमुख विषय के रूप में उभरी, जिसमें इस क्षेत्र में उभरते रुझानों को नैविगेट करने और लाभ उठाने के लिए ज़रूरी सामूहिक कोशिशों पर ज़ोर दिया गया।

Related posts

Cosmo First publishes Sept quarter results

Newsmantra

Omega Seiki Mobility partners with Punjab National Bank to expand financing options Tie-up for Dealers and Retail vehicle financing

Newsmantra

PNB inaugurates Air Force Station Palam Branch

Newsmantra